Ticker

6/recent/ticker-posts

pcs kaise bane

 

पीसीएस (PCS) अधिकारी कैसे बने :-

 Hello मित्रो rosterblog के माध्यम से आज हम आपको बताएँगे की आप pcs kaise bane?

पीसीएस (PCS) का पूरा नाम प्रोविंशियल सिविल सर्विस है, प्रत्येक राज्य में राज्य संघ लोक सेवा आयोग का गठन किया गया है, यह आयोग राज्य में सरकारी पदों के रिक्त पदों का विज्ञापन जारी करता है तथा परीक्षा का आयोजन करके उनकी पूर्ति करता है | राज्य में पीसीएस (PCS) अधिकारी की नियुक्त भी राज्य संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा किया जाता है, यह आयोग संघ लोक सेवा आयोग के तर्ज पर कार्य करता है, लेकिन प्रशासनिक शक्ति राज्य सरकार के पास होती है | यह आयोग पीसीएस की परीक्षा में राज्य की संस्कृति का ध्यान रखता है, क्योंकि पीसीएस पद पर चयनित व्यक्ति को राज्य के अंदर ही पोस्टिंग प्रदान की जाती है|

इस परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें के पश्चात, अभ्यर्थी को एसडीएम, डीएसपी, एआरटीओबीडीओ, जिला अल्पसंख्यक अधिकारी, जिला खाद्य विपणन अधिकारी, असिस्टेंट कमिश्नर व्यापार कर समेत विभिन्न विभागों में उच्च पदों पर नियुक्ति प्राप्त होती है |

 


pcs kaise bane


पीसीएस (PCS) अधिकारी बननें हेतु शैक्षिक योग्यता -

इस परीक्षा में सम्मिलित होनें के लिए अभ्यर्थी को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से सनातक की डिग्री होना आवश्यक है |

 

आयु मापदंड (Age Limit)-

पीसीएस परीक्षा में सम्मिलित होनें वाले अभ्यर्थी की आयु 21 वर्ष से 40 वर्ष के मध्य होना आवश्यक है, तथा आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को नियमनुसार छूट प्रदान की जाएगी |

 

शारीरिक मापदंड (Physical Measurement)-    

राज्य लोक सेवा आयोगों द्वारा पी.सी.एस. परीक्षा में कुछ विशेष पदों (पुलिस उपाधीक्षक, अधीक्षक कारागार इत्यादि) के लिये शारीरिक मापदंड (सामान्यत: 165-167 सेमी.की लम्बाई ) तथा कुछ विशेष पदों, जैसे सांख्यिकीय अधिकारीबेसिक शिक्षा अधिकारी, लेखाधिकारी इत्यादि के लिये विशेष शैक्षणिक योग्यता का निर्धारण किया गया है ।

 

पीसीएस परीक्षा का सिलेबस (Syllabus)-

यूपीपीसीएस (UPPSC) परीक्षा में तीन चरणों में होती हैं-

(1) प्रारंभिक परीक्षा

(2) मुख्य परीक्षा

(3) साक्षात्कार


1.प्रारंभिक परीक्षा -

पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा पाठ्यक्रम में संशोधन किया गया है, अभी तक सामान्य अध्ययन के 200-200 अंकों के दो पेपर होते थे, अब 200-200 नंबर के 4 पेपर आएंगे, अर्थात सामान्य अध्ययन 800 अंको का होगा, हिंदी व निबंध के प्रश्न पत्र में किसी प्रकार का संशोधन नहीं किया गया है, पूर्व की भांति 150-150 नंबर का रहेगा | वैकल्पिक विषयों के अंतर्गत अभी तक दोनों विषयों के 200-200 अंक के दो-दो प्रश्नपत्र होते थे, संशोधन के उपरांत, अब एक ही वैकल्पिक विषय होगा, वैकल्पिक विषय के 200-200 अंको के दो ही प्रश्नपत्र रह जाएंगे, वैकल्पिक विषयों में चिकित्सा विज्ञान को सम्मिलित किया गया है ।

 

प्रश्न पत्र-1 : सामान्य अध्ययन परीक्षा पाठ्यक्रम (GS Syllabus)

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाएं

इस परीक्षा में सम्मिलित होनें वाले अभ्यर्थियों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाओं के बारें  में अच्छी जानकारी होना आवश्यक है, पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों में केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार के घटनाक्रमों के बारे में अधिकांशतः पूछा जाता है, इसके अतिरिक्त अभ्यर्थियों को पिछले 2-3 महीनों की घटनाओं जैसे महत्वपूर्ण तिथियों, पुरस्कारों, खेलों, पुस्तकों और लेखकों के बारे में जानकारी रखना आवश्यक है, घटनाओं से सम्बंधित पूर्ण विवरण जैसे तारीख, स्थान, नाम आदि पर विशेष ध्यान देना आवश्यक है ।


i).प्राचीन भारत

भारत की विभिन्न सभ्यताओं और प्राचीन भारत के कालखंड विभाजन एवं भारत के इतिहास के क्रमिक विकास के बारे में उपयुक्त जानकारी होना आवश्यक है, इसके साथ- साथ भारतीय समाज में विभाजन और उसके आम लोगों के जीवन पर प्रभाव के बारे में भी समुचित जानकारी होनी चाहिए ।


ii).मध्यकालीन भारत   

मध्यकालीन भारत के अंतर्गत, अभ्यर्थियों को त्रिपक्षीय संघर्ष से सम्बंधित, जैसे भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी के राज्य की स्थापना, दिल्ली सल्तनत और मुगल काल, भारत में ‍विभिन्न स्थापत्य और सांस्कृतिक विकास से सम्बंधित जानकारी ।


iii).भारतीय धार्मिक आंदोलन 

भक्ति और धार्मिक आंदोलनों ने स्थापित धर्मों हिंदू और इस्लाम के अंतर्गत नए संप्रदायों को जन्म हुआ और समाज को प्रभावित किया, भारत में ऐसे आंदोलनों के जनकों की शिक्षाओं और दर्शन से सम्बंधित पूर्ण जानकारी होना आवश्यक है |


iv).आधुनिक भारत 

इसके अर्न्तगत मुगल साम्राज्य के पतन और भारत में यूरोपीय शक्तियों के उदय के बारे में, भारत में औपनिवेशिक शासन के दौरान अपनाए गए विभिन्न भूमि सुधारों का अध्ययन से सम्बंधित जानकारी रखना आवश्यक है ।


v).भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन 

1857 के प्रथम स्वाधीनता संग्राम के अंतर्गत प्रमुख व्यक्तियों की भूमिका के बारें में भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन, राष्ट्रीय अंदोलन की प्रकृति और चरित्र, राष्ट्रवाद के उभार और स्वतंत्रता प्राप्ति के बारे में सामान्य जानकारी होना आवश्यक है ।

भारत और विश्व भूगोल- भारत और विश्व का भौतिक, सामाजिक,आर्थिक भूगोल


i).विश्व भूगोल 

विश्व भूगोल के अंतर्गत अभ्यर्थियों को विश्व के सबसे विशाल, सबसे ऊंचे, सबसे लंबे, सबसे गहरे पर्वतों, नदियों, जल प्रपातों, सागरों और विश्व की अन्य भौतिक विशेषताओं की जानकारी होना आवश्यक है ।


ii).भारतीय भूगोल 

भारतीय भूगोल के अंतर्गत भारतीय जलवायु, नदियों, पहाड़ों, भूमि, मैदानों के बारे में जानकारी होनी चाहिए, भारतीय भूगोल के प्रश्न, भारत के भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल से संबंधित होंगे ।


iii).भारतीय राजव्यवस्था और प्रशासन-संविधान

भारतीय राजव्यवस्था से संबंधित प्रश्नों में देश की राजनीतिक व्यवस्था के साथ ही पंचायती राज और सामुदायिक विकास एवं भारतीय राजनीति के व्यापक परिदृश्य से संबंधित प्रश्न पूछें जाते है, इसके साथ-साथ  केंद्र और राज्य सरकारों के मध्य शक्तियों का विभाजन, कार्यपालिका और न्यायपालिका की भूमिका, सर्वोच्च न्यायालय और उच्च न्यायालयों के मध्य शक्तियों का विभाजन और राज्यों के राज्यपालों की नियुक्तियां एवं शर्तों से संबंधित प्रश्न पूछें जाते है |


प्रश्न पत्र- 2 : सामान्य अध्ययन-2

 सामान्य समझ (कम्प्रीहेंशन)

संचार कौशल और अन्तरवैयक्तिक कौशल

तर्कशक्ति और विश्लेषण क्षमता

निर्णय क्षमता और समस्या हल

सामान्य मानसिक योग्यता

दसवीं कक्षा के स्तर तक की प्रारंभिक गणित-अंकगणित, बीजगणित, ज्यामिति और सांख्यिकी


अंकगणित

इसके अंतर्गत प्राकृतिक संख्याएं,पूर्णांक,परिमेय और अपरिमेय संख्याएं,वास्तविक संख्याएं,पूर्णांक का भाजक,अभाज्य पूर्णांक, पूर्णाकों के ल.स.प. और म.स.प. और उनमें अंर्तसंबंध, औसत, अनुपात और समानुपात,  प्रतिशत,  लाभ और हानि, साधारण और चकृवृद्धि ब्याज,  कार्य औप समय,  चाल,समय और दूरी |


बीजगणित

बहुपद के गुणनखंड, ल.स.प. और म.स.प. और उनका अंर्तसंबंध,शेषफल प्रमेय, द्विघात समीकरण, उपसमुच्चय, किसी समुच्चय का सह समुच्चय,क्रियाएं आदि |


ज्यामिति

त्रिभुज, आयत, वर्ग, असमांतर त्रिभुज से संबंधित प्रमेय और वृत्तकी परिधि और उनका क्षेत्रफल, गोले,घन,लम्बवृत्तीय बेलन,शंकु का क्षेत्रफल और क्षेत्र माप से सम्बंधित प्रश्न |


सांख्यिकी

डाटा संग्रहण, डाटा का वर्गीकरण,आवृत्ति, वितरण की आवृत्ति,सारणीकरण,संचयी आवृत्ति, डाटा का प्रदर्शन-बार आरेख,पाई चार्ट,हिस्टोग्राम, बहुभुज आवृत्ति,संचयी आवृत्ति वक्र, समांतर माध्य,माध्यिका,चलन आदि |

दसवीं स्तर तक की सामान्य अंग्रेजी


तर्कशक्ति

कृर्तवाच्य और कर्मवाच्य

 वाक्य विन्यास

वाक्य रूपान्तरण

प्रत्यक्ष कथन और अप्रत्यक्ष कथन

विराम चिह्न और वर्तनी

शब्द-अर्थ

शब्दकोश और उसका उपयोग

मुहावरे और वाक्यांश

रिक्त स्थान

 

2.मुख्य परीक्षा

मुख्य परीक्षा संशोधन के उपरांत निम्न परीक्षा पैटर्न के आधार पर परीक्षाओं का आयोजन किया जायेगा |

सामान्य हिंदी

150 अंक

निबंध

150 अंक

सामान्य अध्ययन 1

200 अंक

सामान्य अध्ययन 2

200 अंक

सामान्य अध्ययन 3

200 अंक

सामान्य अध्ययन 4

200 अंक

वैकल्पिक विषय पेपर 1

200 अंक

वैकल्पिक विषय पेपर 2

200 अंक

 

3.साक्षात्कार

लोकसेवा आयोग की पीसीएस परीक्षा में साक्षात्कार के 200 अंक के स्थान पर 100 अंक का कर दिया गया है,साक्षात्कार में किसी विषय पर आपके विचार, विपरीत स्थितियों में निर्णय लेने की क्षमता और नेतृत्व क्षमता का परीक्षण किया जाता है, आपको वर्तमान में घटित होनें वाली घटनाओ से सम्बंधित जानकारी होनी चाहिए और दिमाग में यह स्पष्ट होना चाहिए कि वे इस सर्विस में क्यों आना चाहते हैं, साक्षात्कार में अभ्यर्थियों के व्यक्तित्व का परीक्षण होता है, जिसमें आपके बायोडाटा और सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं, इसलिए अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के दौरान आत्म-विश्वास बनाए रखना चाहिए और प्रश्नों का सीधा उत्तर देना चाहिए ।

 

पीसीएस अधिकारी का वेतन (Salary of PCS Officer)

पीसीएस अधिकारी को वेतन के रूप में 15600 से 67000 रूपए प्राप्त होते है, इसके अतिरिक्त निवास हेतु सरकारी भवन, वाहन तथा आवश्यकतानुसार कर्मचारी प्राप्त होते है |

 

पीसीएस के कार्य (WORK OF PCS OFFICER)

पीसीएस अधिकारी के रूप आपका चयन किसी संस्था के प्रमुख के रूप में होता है | संस्था में होने वाले कार्य के प्रति पीसीएस अधिकारी का उत्तर दायित्व होता है | पीसीएस में 56 तरह के पद शामिल हैं जैसे एक्साइज इंस्पेक्टरएसडीएम, डिप्टी एसपी, प्रिंसिपल जीआईसी, जिला सूचना अधिकारीबीडीओ, सप्लाई ऑफिसर, उप निबंधक इत्यादि | इन पदों पर रहकर विभाग द्वारा निर्धारित किये गए कार्यों को सही ढंग से करवाने की मुख्य जिम्मेदारी पीसीएस अधिकारी की होती है |

 

 

UPPSC प्रीलिम्स 2020 की तैयारी के लिए महत्वपूर्ण बुक्स और Sources की लिस्ट यहाँ दी गई है:

UPPSC प्रीलिम्स  2019 विषय

UPPSC परीक्षा की तैयारी

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की वर्तमान घटनाएं

"The Hindu" along with UP state newspaper

भारतीय इतिहास और राष्ट्रीय आंदोलन

History should be read  from :NCERT along with any standard book

भारतीय और विश्व भूगोल

Indian geography should be read as:NCERT along with any standard book

भारतीय राजनीति

NCERT along with any standard book

सामाजिक और आर्थिक विकास

You can refer to school textbooks NCERT (Standard 9-12)

पर्यावरणीय पारिस्थितिकी, जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता

NCERT along with any standard book

 

प्रीलिम्स एक एप्टीट्यूड परीक्षा होगी, जिसमें  reading comprehensions, logical reasoning और english grammar के प्रश्न पूछे जाएंगे l

 

UPPSC PCS 2020 मेंस की प्रिपरेशन के  लिए उपयोगी बुक्स :

1.      History by  Bipin Chandra

2.      Polity by  Laxmikant

3.      Geography by  Lexicon or Majid Hussain or G.C. Leong

4.      Economy- You can refer to  School Textbooks or Ramesh Singh

5.      Current Affairs- Read The Hindu along with a Monthly Compilation of any good magazine


पुस्तकों के साथ कुछ अन्य स्रोतों पर ध्यान देने की आवश्यकता है जो नीचे दिए गए हैं:

 

बजट और आर्थिक सर्वेक्षण       

यूपी स्टेट बोर्ड की किताबें

पाठ्यक्रम में दिए गए सभी विषयों की NCERT पुस्तकें

करंट अफेयर्स के लिए:

मंथली हिन्दू रिव्यु

योजना मैगज़ीन

RSTV  (राज्य सभा TV)

 

 

UPPSC परीक्षा की तैयारी के संबंध में कुछ अन्य महत्वपूर्ण बातें ध्यान में रखना चाहिए :

1.      प्रीलिम्स के लिए MCQ हल करने का अभ्यास करें

2.      Timer के साथ अभी से मेन्स परीक्षा के लिए answer लिखने का प्रयास करें

 

Rosterblog के माध्यम से आपको हमनें पीसीएस अधिकारी बननें के बारें में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है |

 

Post a Comment

1 Comments

  1. Thanks for sharing this post. This content really helps me to do further action for grasp the knowledge. This makes a lot more sense. integrated Shala Darpan

    ReplyDelete